69000 शिक्षक भर्ती: हाईकोर्ट ने सरकार के फैसले को किया रद्द, अभी भी इस मामले में फंस सकता है पेंच!

69000 शिक्षक भर्ती: हाईकोर्ट ने सरकार के फैसले को किया रद्द, अभी भी इस मामले में फंस सकता है पेंच!

लखनऊ। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ ने सहायक शिक्षकों के 69 हजार पदों पर भर्ती परीक्षा के मामले में बड़ा फैसला लिया है। जस्टीस राजेश सिंह चौहान की पीठ ने सरकार द्वारा परीक्षा के बाद 60 और 65 प्रतिशत कट आफ मार्क्स तय करने के फैसले को रद्द कर दिया।

उक्त शासनादेश के द्वारा जनरल व रिजर्व कैटेगरी के लिए क्रमशः 65 व 60 प्रतिशत क्वालिफाइंग मार्क्स घोषित किया गया था।

यह भी पढ़ें:- अरूण जेटली ने कांग्रेस को लेकर जो कहा है उसे हर भारतीय को जनना चाहिए

हाईकोर्ट में न्यायमूर्ति राजेश सिंह चौहान ने मोहम्मद रिजवान व अन्य समेत दर्जनों याचिकाओं को मंजूर करते हुए कहा कि पिछले सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा की भांति क्वालिफाइंग मार्क्स तय करते हुए रिजल्ट तीन महीने में घोषित करें।

हाईकोर्ट ने कहा कि, 2018 के 68500 शिक्षकों की भर्ती में तय कट आफ मार्क्स के अधार पर सरकार तीन महिने में नतीजे जारी करे।

खबरों के मुताबिक कुछ लोगों का कहना है कि वह हाईकोर्ट की एकल बेंच के फैसले के खिलाफ डबल बेंच में अपील करेंगे।

यह भी पढ़ें:-ITBP Recruitment 2019: इंडो तिब्बतन बॉर्डर पुलिस फोर्स में निकली वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन

बता दें सरकार ने 1 दिसम्बर 2018 को प्रदेश  में 69 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती प्रकिया प्रारम्भ की थी। इसके लिए 6 जनवरी 2019 को लिखित परीक्षा हुई। बाद में 7 जनवरी को सरकार ने सामान्य वर्ग के लिए 65 व ओबीसी के लिए 60 प्रतिशत क्वालिफाइंग मार्क्स तय कर दिए थे।