राहुल गांधी 10 अप्रैल, तो वही स्मृति ईरानी 11 अप्रैल को अमेठी से करेंगी नामांकन

राहुल गांधी 10 अप्रैल, तो वही स्मृति ईरानी 11 अप्रैल को अमेठी से करेंगी नामांकन

राहुल गांधी 10 अप्रैल को लोकसभा क्षेत्र अमेठी से अपना नामांकन करेंगे। इससे पहले राहुल गांधी ने केरल के वायनाड लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से अपना नामांकन कर चुके है। राहुल उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट से 2004 से लगातार तीन बार चुनाव जीतते आ रहे हैं। भाजपा ने अमेठी से राहुल के खिलाफ इस बार भी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को उतारा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल ने उन्हें 1.07 लाख वोटों से हराया था। हालांकि, राहुल की जीत का यह अंतर 2009 की तुलना में काफी कम था। तब राहुल 3.70 लाख वोटों से जीते थे।

स्मृति ईरानी 11 अप्रैल को अमेठी लोक सभा क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल करेंगी। उनके साथ भाजपा के बड़े नाम शामिल हो सकते है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हो सकते है। स्मृति ईरानी 2014 लोक सभा चुनाव से  लगातार अमेठी पर नजर गड़ाए हुए हैं। वह अमेठी के विकास को लेकर पिछले 5 साल से राहुल गांधी पर हमलावर हैं। राहुल गांधी के वायनाड से चुनाव लड़ने पर उन्होंने इसे अमेठी की जनता के साथ धोखा करार दिया है। भाजपा और स्मृति ईरानी का कहना है कि राहुल गांधी अमेठी में हार के डर से वायनाड भाग गए हैं।

अब देखना दिलचस्प होगा की अमेठी का चुनाव कौन जीतेगा? क्या राहुल गांधी अमेठी और वायनाड से चुनाव जीत पाएंगे? क्या स्मृति ईरानी अमेठी मेँ काँग्रेस के गढ़ मे सेंध लगा पाएँगी? अगर  राहुल गांधी दोनों क्षेत्र से जीतते है तो किसको चुनेंगे अमेठी या वायनाड?